अब रोहित को टीम में जगाना होगा भरोसा क्यूंकि पहले बिना गेंदबाज जीते थे अब बिना बल्लेबाज जीतेंगे

खबरों के मुताबिक़ ये सुनने में आ रहा है की पहले तो भारत टीम बहुत ज़ोरो से मैच की तैयारी में लगी पड़ी थी लेकिन अब आसार अच्छे नज़र नहीं आ रहे है क्यूंकि अब ये लगता है की राजकोट टेस्ट में अब टीम इंडिया के हालात कुछ ठीक नज़र नहीं आ रहे है। क्यूंकि भारत टीम में कुछ बल्लेबाज़ दिखाई नहीं पढ़ रहे है, माना ये जा रहा है की किसी का टीम में सिलेक्शन नहीं हुआ है, किसी के चोट लगी हुई है तो कोई अपनी लम्बी छुट्टियों पर है। अब क्या लगता है की एक कप्तान होने के नाते रोहित शर्मा टेस्ट मैच से पहले क्या कहेंगे क्रिकेटर से?

ये गंभीर स्थिति भारतीय टीम में बहुत ही कम देखि गयी है परन्तु अब सामने ऐसी हालात है तो कुछ तो करना ही पड़ेगा। ये ऐसी स्तिथि है जहाँ कप्तान के सामने प्लेइंग एलेवेन चुनने की मुसीबत हो. अगर टीम इंडिया किसी विदेश में कोई टेस्ट सीरीज खेलती है तो फिर ऐसे हालात बन सकते है क्यूंकि किसी भी खिलाडी को कही देश से विदेश भेजने में काफी समय बर्बाद हो जाता है। पर अचानक से ऐसे खिलाड़ियों की कमी पढ़ जाना बहुत ही हैरत की बात है। अब ये राजकोट टेस्ट सीरीज इस संकट में मुब्तला है जिसमे कोई तो एक्शन लेना ही पड़ेगा। सुनने में ये भी आया है की विराट कोहली ने कुछ व्यक्तिगत वजहों से खुद को टीम से हटा लिया है और वो पिछले दो टेस्ट में भी गायब ही रहे. और बात करे केएल राहुल की तो उन्हें पिछले टेस्ट में चोट लग गयी थी जिस वजह से वो दूसरे मैच में भी नहीं खेल सके.

रोहित शर्मा के लिए मुश्किल हैं हालात

अब इस संकट की घड़ी में सोच ही लिए की कप्तान की क्या हालत हो सकती है. सभी क्रिकेट के लवर्स को तो भारत की जीत पर पूरा भरोसा होता है क्यूंकि हम दर्शको को सिर्फ भारत टीम से ही लगाव होता है। परन्तु भारत की टीम जीतने के लिए प्लेइंग एलेवेन की ज़रूरत है जो की अब कोई नहीं दे सकता। अब ये रोहित शर्मा की बदकिस्मती है की वो मैदान में बिना अनुभव के खिलाड़ियों के साथ मैदान में खेलने चले गए। यही वजह है की रोहित इस बार बिलकुल जोश में नहीं नज़र आ रहे उनका आत्मभरोसा कुछ दिखाई नहीं पढ़ रहा है। वो कुछ ख़ास कप्तानी नहीं कर रहे है।

Rohit sharma

खिलाड़ियों को कैसे ‘मोटिवेट’ करेंगे रोहित शर्मा?

अगर आप नहीं जानते तो जान लीजिये की जो ये हालात अभी चल रहे है ऐसे ही ख़राब हालात तीन साल पहले भी हुए थे पर उस समय पर अजिंक्य रहाणे भारत टीम की कप्तानी कर रहे थे और उस वक़्त विराट कोहली अपनी छुट्टी पर थे. भारत ने ब्रिसबेन टेस्ट में धमाकेदार जीत हासिल की थी और ये हैरानी की बात है की उस वक़्त भी टीम इंडिया में प्लेइंग एलेवेन को चुनने की घटना सामने आयी थी। पर पिछली बार परेशानी गेंदबाज़ो को लेकर था। इंडिया टीम की पहली पारी में रोहित ने 44 रन बनाये थे और तब ही ये खिलाडी उस जीत का हिस्सा बने थे।

Leave a Reply